Movie prime
जानिये क्यों मनाते है शरदीय नवरात्र
 

इस साल 26 सितम्बर से शारदीय नवरात्र प्राम्भ हो रहे है ,जिसकी सनातम धर्म में बड़ी मान्यता है। लेकिन आप जानते है की इन्हे शारदीय नवरात्र क्यों कहा जाता है और शारदीय में ही क्यों मनाया जाता है ?तो चलिए जानते है -कहा जाता हहै की माँ ने इन्ही दिनों में महिसासुर का वध किया था। मान्यता के अनुसार, महिषासुर नाम का एक दैत्य था। ब्रह्मा जी से अमर होने का वरदान पाकर वह देवताओं को सताने लगा था। महिषासुर के अत्याचार से परेशान होकर सभी देवता शिव, विष्णु और ब्रह्मा के पास गए। इसके बाद तीनों देवताओं ने आदि शक्ति का आवाहन किया। भगवान शिव और विष्णु के क्रोध व अन्य देवताओं से मुख से एक तेज प्रकट हुआ, जो नारी के रूप में बदल गया। अन्य देवताओं ने उन्हें अस्त्र-शस्त्र प्रदान किए। इसके बाद देवताओं से शक्तियां पाकर देवी दुर्गा ने महिषासुर को ललकारा। महिषासुर और देवी दुर्गा का युद्ध शुरू हुआ, जो 9 दिनों तक चला। फिर दसवें दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का वध कर दिया। मान्यता है कि इन 9 दिनों में देवताओं ने रोज देवी की पूजा-आराधना कर उन्हें बल प्रदान किया। तब से ही नवरात्रि का पर्व मनाने की शुरुआत हुई। और नवरात्र मनाये जाने लगे।